सोमवार, 25 जुलाई 2011

मै इस दुनिया को अक्सर देख कर हैरान होता हूँ





2 टिप्‍पणियां:

  1. न सच्ची है,
    न झूटी है,
    न अपनी है,
    न बेगानी...
    मैं इस दुनिया को अक्सर देख कर हैरान होता हूँ

    तस्वीरों की दुनिया
    मन-भावन है !!
    आभार .

    उत्तर देंहटाएं
  2. 'पुरानी पोस्‍ट' पर क्लिक करते-करते यहां तक आ पहुंचा हूं। और पीछे जा रहा हूं। कहते जाऊं कि अच्‍छा काम कर रही हो। ये शग़ल और चढ़ता रहे। और जुनून बन जाए।

    उत्तर देंहटाएं