बुधवार, 18 मई 2011

चढ़ता सूरज धीरे-धीरे ढ़लता है ढ़ल जायेगा






5 टिप्‍पणियां:

  1. मन्दिर देख आए लेकिन प्रकृति के रोम रोम में बसे भगवान के दर्शन आत्मा को तृप्त करते हैं...

    उत्तर देंहटाएं
  2. शाम का सूरज
    बिंदिया बन कर
    सागर में खो जाए ......

    उत्तर देंहटाएं
  3. ढलते सूरज की ख़ूबसूरती को क्या पकड़ा है आपने...गज़ब.

    नीरज

    उत्तर देंहटाएं